facebook

सत्यमेव जयते Satyamev Jayate Title Song Hindi Lyrics feat. Aamir Khan

Satyamev Jayate
Satyamev Jayate Hindi lyrics From Aamir Khan’s TV Show Satyamev Jayate written byPrasoon Joshi, music is composed by Ram Sampath and sung by Ram Sampath, Keerthi Sagathia.


Song Title: Satyamev Jayate Theme Song
Singers: Ram Sampath, Keerthi Sagathia
Lyrics: Prasoon Joshi
Music: Ram Sampath
Music Label: T-Series


Satyamev Jayate Title Hindi Lyrics

तेरा रंग ऐसे चढ़ गया
कोई रंग और न चढ़ सके
तेरा नाम सीने पे लिखा
हर कोई आके पढ़ सके

है जूनून है जूनून है
तेरे इश्क का ये जूनून है
रग रग में इश्क तेरा दौड़ता
ये बावरा सा खून है
तुने ही सिखाया सच्चाइयों का मतलब
तेरे पास आके जाना मैंने ज़िन्दगी का मकसद
सत्यमेव, सत्यमेव, सत्यमेव जयते
सच्चा है प्यार तेरा, सत्यमेव जयते

तेरे नूर के दस्तूर में
न हो सलवटें न शिकन रहे
मेरी कोशिशें तो है बस यहीं
रहे खुशबूएं गुलशन रहे
तेरी ज़ुल्फ़ सुलझाने चला
तेरे और पास आने चला
www.hinditracks.in
जहाँ कोई सुर न हो बेसुरा
वो गीत मैं गाने चला

तेरे रंग ऐसा चढ़ गया
था नशा जो और भी बढ़ गया
तेरी बारिशों का करम है ये
मैं निखर गया मैं संवर गया
जैसा भी हूँ अपना मुझे
मुझे ये नहीं हैं बोलना
काबिल तेरे मैं बन सकू
मुझे द्वार ऐसा खोलना
सांसों की इस रफ़्तार को
धड़कन के इस त्यौहार को
हर जीत को हर हार को
खुद अपने इस संसार को
बदलूँगा मैं तेरे लिए

मुझे खुद को भी है टटोलना
कहीं है कमी तो है बोलना
कहीं दाग हैं तो छुपायें क्यों
हम सच से नज़रें हटायें क्यों
खुद को बदलना है अगर
बदलूँगा मैं तेरे लिए
शोलों पे चलना है अगर
चल दूंगा मैं तेरे लिए
मेरे खून की हर बूँद मैं
संकल्प हो तेरे प्यार का
काटो मुझे तोह तू बहे
हो सुर्ख रंग हर धार का

Also See: ओ री चिरैया


Satyamev Jayate Title Song Lyrics (English)

Tera rang aisa chadh gaya
koi aur rang na chadh sake
tera naam seene pe likha
har koi aake padh sake

hai junun hai junun hai
tere ishq ka ye junun hai
rag rag mein ishq tera daudhta
yeh bawra sa khoon hai
tune hi sikhaya sachchaiyon ka matlab
tere paas aake jana maine zindagi ka maqsad
satyamev, satyamev, satyamev jayate
sachcha hai pyar tera, satyamev jayate

tere noor ke dastur mein
na ho salvatein na shikan rahe
meri koshishein to hai bas yahin
rahein khushbooein gulshan rahe
teri zulf suljhane chala
tere aur paas aane chala
jahan koi sur na ho besura
wo geet main gaane chala

tera rang aisa chadh gaya
tha nasha jo aur bhi badh gaya
teri barishon ka karam hai ye
main nikhar gaya main sanwar gaya
jaisa bhi hoon apna mujhe
mujhe ye nahin hai bolna
kaabil tere main ban saku
mujhe dwar aisa kholna
saanson ki iss raftaar ko
dhadkan ke iss tyohar ko
har jeet ko har haar ko
khud apne iss sansar ko
badlunga main tere liye

mujhe khud ko bhi hai tatolna
kahin hai kami to hai bolna
khahin daag hain to chhupayein kyon
hum sach se nazrein hatayein kyon
khud ko badalna hai agar
www.hinditracks.in
badlunga main tere liye
sholon pe chalna hai agar
chal dunga main tere liye
mere khoon ki har boond main
sankalp ho tere pyar ka
kato mujhe to tu bahe
ho surkh rang har dhar ka