रंग और नूर Rang Aur Noor Ki Barat Hindi Lyrics – Gazal | Md Rafi


Rang Aur Noor Ki Barat Kise Pesh Karun song lyrics in Hindi form movie Gazal sung by Md Rafi, composed by Madan Mohan and written by Sahir Ludhianvi. Starring Sunil Dutt & Meena Kumari.

Song Title: Rang Aur Noor Ki Barat
Movie: Gazal (1964)
Singers: Md Rafi
Lyrics: Sahir Ludhianvi
Music: Madan Mohan

Lyrics of Rang Aur Noor Ki Barat in Hindi:

[रंग और नूर की बारात किसे पेश करूँ
ये मुरादों की हंसी रात किसे पेश करूँ
किसे पेश करूँ ] x २

मैंने जज़बात निभाए हैं उसूलों की जगह
मैंने जज़बात निभाए हैं उसूलों की जगह
अपने अरमान पीरों लाया हूँ फूलों की जगह
तेरे सेहरे की..
तेरे सेहरे की ये सौगात किसे पेश करूँ
ये मुरादों की हंसी रात किसे पेश करूँ
किसे पेश करूँ

ये मेरे शेर मेरे आखरी नजराने हैं
ये मेरे शेर मेरे आखरी नजराने हैं
मैं उन अपनों में हूँ जो आज से बेगाने हैं
बेताल्लुक सी मुलाक़ात किसे पेश करूँ
ये मुरादों की हंसी रात किसे पेश करूँ
किसे पेश करूँ

सुर्ख जोड़े की तब-ओ-ताब मुबारक हो तुझे
सुर्ख जोड़े की तब-ओ-ताब मुबारक हो तुझे
तेरी आँखों का नया ख्वाब मुबारक हो तुझे
मैं ये ख्वाइश, ये ख़यालात किसे पेश करूँ
ये मुरादों की हंसी रात किसे पेश करूँ
किसे पेश करूँ

कौन कहता है के चाहत पे सभी का हक है
कौन कहता है के चाहत पे सभी का हक है
तू जिसे चाहे तेरा प्यार उसी का हक है
मुझ से कह दे..
मुझ से कह दे, मैं तेरा हाथ किसे पेश करूँ
ये मुरादों की हंसी रात किसे पेश करूँ
किसे पेश करूँ

रंग और नूर की बारात किसे पेश करूँ
ये मुरादों की हंसी रात किसे पेश करूँ
किसे पेश करूँ
[किसे पेश करूँ..किसे पेश करूँ.. ] x ३