एक था गुल EK THA GUL Hindi Lyrics – Jab Jab Phool Khile | Md. Rafi


Ek Tha Gul Hindi Lyrics from movie Jab Jab Phool Khile sung by Md. Rafi, Nanda. Song is written by Anand Bakshi and composed by Kalyanji Anandji. Starring Agha, Kamal Kapoor, Nanda, Shammi Kapoor and Shashi Kapoor.

Song Title: Ek Tha Gul
Movie: Jab Jab Phool Khile
Singer: Md. Rafi, Nanda
Lyrics: Anand Bakshi
Music: Kalyanji Anandji
Music Label: Saregama

Ek Tha Gul Hindi Lyrics

एक था गुल और एक थी बुलबुल
एक था गुल और एक थी बुलबुल
दोनों चमन में रहते थे
हैं ये कहानी बिलकुल सच्ची
मेरे नाना कहते थे
एक था गुल और एक थी बुलबुल

बुलबुल कुछ ऐसे गाती थी
ऐसे गाती थी, ऐसे गाती थी
(कैसे गाती थी)
बुलबुल कुछ ऐसे गाती थी
जैसे तुम बातें करती हो

वो गुल ऐसे शरमाता था
ऐसे शरमाता था, ऐसे शरमाता था
कैसे ऐसे शरमाता था
वो गुल ऐसे शरमाता था
जैसे मैं घबरा जाता हूँ

बुलबुल को मालूम नहीं था
गुल ऐसे क्यो शरमाता था
वो क्या जाने उसका नग्म़ा
गुल के दिल को धडकाता था
दिल के भेद ना आते लब पे
ये दिल में ही रहते थे
एक था गुल और एक थी बुलबुल

(फिर क्या हुआ)
लेकिन आखिर दिल की बातें
ऐसे कितने दिन छूपती हैं
ये वो कलियाँ हैं जो एक दिन
बस काँटे बान के चुभती हैं
एक दिन जान लिया बुलबुल ने
वो गुल उस का दीवना है
तुम को पसंद आया हो तो बोलू
फिर आगे जो अफसाना है
(हूँ बोलो ना चुप क्यूँ हो गए)
एक दूजे का हो जाने पर
वो दोनो मजबूर हुये
उन दोनो के प्यार के किस्से
गुलशन में मशहूर हुये
सात जियेंगे, सात मरेंगे
वो दोनो ये कहते थे
एक था गुल और एक थी बुलबुल

(फिर क्या हुआ)
फिर एक दिन की बात सुनाऊ
एक सय्याद चमन में आया
ले गया वो बुलबुल को पकड के
और दीवाना गुल मुरझाया
और दीवाना गुल मुरझाया
शायर लोग बयाँ करते हैं
ऐसे उन की जुदाई की बातें
गाते ते ये गीत वो दोनो
सैय्या बिना नहीं कटती रातें
सैय्या बिना नहीं कटती रातें
(हाय)
मस्त बहारों का मौसम था
आंख से आंसू बहते थे
एक था गुल और एक थी बुलबुल

आती थी आवाज हमेशा
ये झिलमील झिलमील तारोँ से
जिसका नाम मोहब्बत है
वो कब रूकती है दिवारों से
एक दिन आह गुल-ओ-बुलबुल की
उस पिंजड़े से जा टकराई
टूटा पिंजड़ा, छूटा कैदी
देता रहा सैय्याद दुहाई
रोक सके ना उस को मिलके
सारा जमाना, सारी खुदाई
गुल साजन को गीत सुनाने
बुलबुल बाग में वापस आई
(राजा बहुत अच्छी कहानी है)
याद सदा राखना ये कहानी
चाहे जीना, चाहे मरना
तुम भी किसी से प्यार करो तो
प्यार गुल-ओ-बुलबुल सा करना
प्यार गुल-ओ-बुलबुल सा करना
प्यार गुल-ओ-बुलबुल सा करना
प्यार गुल-ओ-बुलबुल सा करना

जब जब फूल खिले फिल्म के और गाने: परदेसियों से ना | ना ना करते प्यार | ये समां | तुमको हमपे प्यार आया | यहाँ मैं अजनबी हूँ

Ek Tha Gul Lyrics (English Font)

ek tha gul aur ek thi bulabul
ek tha gul aur ek thi bulabul
dono chaman me rahate the
hai ye kahani bilakul sachchi
mere nana kahate the
ek tha gul aur ek thi bulabul

bulabul kuchh aise gati thi
aise gati thi, aise gati thi
(kaise gaati thi)
bulabul kuchh aise gati thi
jaise tum bate karati ho

wo gul aise sharmata tha
aise sharmata tha, aise sharmata tha
(kaise sharmata tha)
jaise main ghabara jata hoon

bulabul ko malum nahi tha
gul aise kyun sharamata tha
wo kya jane usaka nagama
gul ke dil ko dhadakata tha
dil ke bhed na aate lav pe
ye dil me hi rahate the
ek tha gul aur ek thi bulabul

(phir kya hua)
lekin akhir dil ki batein
aise kitane din chhupati hai
ye wo kaliya hai jo ik din
bas kante banake chubhati hain
ik din jaan liya bulabul ne
wo gul usaka deewana hai
tumako pasand aaya ho to bolu
phir age jo afasana hai
(hoon bolo na chup kyun ho gaye)
ik duje ka ho jane par
wo dono majabur huye
un dono ke pyar ke kisse
gulashan mein mashahur huye
sath jiyege sath marege
wo dono ye kahate the
ek tha gul aur ek thi bulabul

(phir kya hua)
phir ik din ki bat sunau
ek sayyad chaman me aya
le gaye wo bulabul ko pakadake
aur deewana gul murajhaya
aur divana gul murajhaya
shayar log bayaan karate hai
aise unaki judai ki batein
gaate the ye geet wo dono
saiya bina nahi katati ratein
saiya bina nahi katati ratein
(hay)
mast baharo ka mausam tha
ankh se aansu bahate the
ek tha gul aur ek thi bulabul

ati thi aawaz hamesha
ye jhilamil jhilamil taro se
jisaka naam mohabbat hai
wo kab rukati hai divaro se
ek din ah gul-o-bulabul ki
us pijare se ja takarai
tuta pijara chhuta kaidi
deta raha saiyyad duhai
rok sake na usako milake
sara zamana sari khudai
gul sajan ko geet sunane
bulabul bag me vapas aayi
(raja bahut acchi kahani hai)
yaad sada rakhana ye kahani
chahe jina, chahe marana
tum bhi kisi se pyar karo toh
pyar gul-o-bulabul sa karana
pyar gul-o-bulabul sa karana
pyar gul-o-bulabul sa karana
pyar gul-o-bulabul sa karana

जब जब फूल खिले फिल्म के और गाने: परदेसियों से ना | ना ना करते प्यार | ये समां | तुमको हमपे प्यार आया | यहाँ मैं अजनबी हूँ