चुलबुली Chulbuli Hindi Lyrics – Babumoshai Bandookbaaz | Papon

Chulbuli Hindi Lyrics


Chulbuli Hindi Lyrics from Babumoshai Bandookbaaz sung by Papon. The song is written by Ghalib Asad Bhopali and music composed by Gaurav Dagaonkar. Starring Nawazuddin Siddiqui, Bidita Bag.

Song Title: Chulbuli
Movie: Babumoshai Bandookbaaz
Singer: Papon
Lyrics: Ghalib Asad Bhopali
Music: Gaurav Dagaonkar



Chulbuli Hindi Lyrics

चुलबुली चुलबुली ज़िन्दगी
बुलबुलों में घुली ज़िन्दगी
चुलबुली चुलबुली ज़िन्दगी
बुलबुलों में घुली ज़िन्दगी

पहले पहले कितना हाँ इतरायी थी
दूर दूर से ही शरमाई थी
पहले पहले कितना हाँ इतरायी थी
दूर दूर से ही शरमाई थी

धीरे धीरे पास आके
मुस्कुरा के, गुनगुना के
अब कहीं पे जाके खुली ज़िन्दगी

चुलबुली चुलबुली ज़िन्दगी (ज़िन्दगी)
बुलबुलों में घुली ज़िन्दगी (ज़िन्दगी)

प्यार क्यूँ ना हो बड़ी हसीं है
इसकी हर अदा में कोई सीन है
www.hinditracks.in
हो प्यार क्यूँ ना हो बड़ी हसीं है
इसकी हर अदा में कोई सीन है
जिद पे जब ये आये तो ना पूछिये
मानती कहाँ ये नाजनीन है

इसकी इन इमाकातों पे
लुट गए हैं रास्तों पे
जब शरारतों पे तुली ज़िन्दगी

चुलबुली चुलबुली ज़िन्दगी (ज़िन्दगी)
बुलबुलों में घुली ज़िन्दगी (ज़िन्दगी)

देखने में यूँ बड़ी ही नेक है
सादगी मगर ये सारी फेक है
हो देखने में यूँ बड़ी ही नेक है
सादगी मगर ये सारी फेक है
दिल लगाया हमने तो पता चला
फिदरतों में इसकी हार्ट ब्रेक है

हाय कैसी बेबसी है फिर भी ऐसे रूठती है
जैसे दूध की है धूली ज़िन्दगी

चुलबुली चुलबुली ज़िन्दगी (ज़िन्दगी)
बुलबुलों में घुली ज़िन्दगी (ज़िन्दगी)

पहले पहले कितना हाँ इतरायी थी
दूर दूर से ही शरमाई थी
धीरे धीरे पास आके
मुस्कुरा के, गुनगुना के
अब कहीं पे जाके खुली ज़िन्दगी
चुलबुली चुलबुली

Chulbuli Video Song:

Chulbuli Lyrics (English Font)

Chulbuli chulbuli zindagi
bulbulon mein ghuli zindagi
chulbuli chulbuli zindagi
bulbulon mein ghuli zindagi
pehle pehle kitna haan itrayi thi
door door se hi sharmayi thi
pehle pehle kitna haan itrayi thi
door door se hi sharmayi thi

dheere dheere paas aake
muskura ke, gunguna ke
ab kahin pe jaake khuli zindagi

chulbuli chulbuli zindagi (zindagi)
bulbulon mein ghuli zindagi (zindagi)

pyar kyun na ho badi haseen hai
iski har adaa mein koyi scene hai
ho pyar kyun na ho badi haseen hai
iski har adaa mein koyi scene hai
zid pe jab yeh aaye to na puchhiye
maanti kahan yeh naazneen hai

iski in himakaton pe
lut gaye hain raaston pe
jab shararaton pe tuli zindagi

chulbuli chulbuli zindagi, (zindagi)
bulbulon mein ghuli zindagi, (zindagi)

dekhne mein yun badi hi nek hai
sadgi magar yeh saari phek hai
ho dekhne mein yun badi hi nek hai
sadgi magar yeh saari phek hai
dil lagaya humne toh pata chala
fidraton mein iski heart break hai

hay kaisi bebasi hai phir bhi aese rooth-ti hai
jaise doodh ki hai dhuli zindagi
chulbuli chulbuli zindagi (zindagi)
bulbulon mein ghuli zindagi (zindagi)

pehle pehle kitna haan itrayi thi
door door se hi sharmayi thi
dheere dheere paas aake
muskura ke, gunguna ke
ab kahin pe jaake khuli zindagi
chulbuli chulbuli