अब नाम मोहब्बत के Ab Naam Mohabbat Ke Hindi Lyrics – Ghulam


Ab Naam Mohabbat Ke lyrics in Hindi (Devanagari font): The song is from movie Ghulam (1998), sung by Udit Narayan and Alka Yagnik. The song is written by Sameer and music composed by Jatin Lalit. Starring Aamir Khan and Rani Mukherjee.

Ab Naam Mohabbat Ke Song Details

📌 Song Title Ab Naam Mohabbat Ke
🎞️ Movie Ghulam (1998)
🎤 Singer Alka Yagnik, Udit Narayan
✍️ Lyrics Sameer
🎼 Music Jatin Lalit
🏷️ Music Label Tips Official
▶︎ See music video of Ab Naam Mohabbat Ke Song on Tips Official YouTube channel for your reference and song details. ab naam mohabbat ke lyrics in HIndi Ghulam

Ab Naam Mohabbat Ke Hindi Lyrics



अब नाम मोहब्बत के इल्ज़ाम तो आया है
अब नाम मोहब्बत के इल्ज़ाम तो आया है
तुम जो भी सज़ा दे दो, सर हमने झुकाया है

तुमने ही हँसी दी थी, तुमने ही रुलाया है
तुमने ही हँसी दी थी, तुमने ही रुलाया है
क्या प्यार में सोचा था ?
क्या प्यार में पाया है ?
क्या प्यार में पाया है ?

तुम जो भी हमें समझो
पर तुमको सदा सराहेंगे हम
बेगुनाह जो हमे ठहराए
लब्ज़ ऐसे कहाँ पाएँगे हम ?
उम्मीद ना थी इसकी, जो सामने आया है
तुम जो भी सज़ा दे दो
सर हमने झुकाया है
सर हमने झुकाया है

एक प्यार के मुजरिम से
उलफत भी करें तो कैसे करें ?
तुम्हें टूटके चाहा था
नफ़रत भी करे तो कैसे करें ?
जो पार हमें करता, उसने ही डुबाया है
क्या प्यार में सोचा था ?
क्या प्यार में पाया है ?

अब नाम मोहब्बत के इल्ज़ाम तो आया है
तुम जो भी सज़ा दे दो
सर हमने झुकाया है 
सर हमने झुकाया है 
सर हमने झुकाया है



More Songs from Ghulam Movie:
आँखों से तूने यह क्या Aankhon Se Tune Yeh Kya
आती क्या खंडाला Aati Kya Khandala
अब नाम मोहब्बत के Ab Naam Mohabbat Ke
जादू है तेरा ही जादू Jadoo Hai Tera Hi Jadoo
साथ जो तेरा मिल गया Saath Jo Tera Mil Gaya
तुझको क्या Tujhko Kya



Ab Naam Mohabbat Ke Hindi Lyrics

Ab naam mohabbat ke
Ilzaam toh aaya hai
Abb naam mohabbat ke
Ilzaam toh aaya hai
Tum jo bhi saja de do
Sar hamne jhukaaya hai
Tumne hi hansi di thi
Tumne hi rulaaya hai
Tumne hi hansi di thi
Tumne hi rulaaya hai
Kya pyaar mein socha tha
Kya pyaar mein paaya hai

Tum jo bhi hame samajho
Par tumko sada sarhaaenge hum
Begunaah jo hame thehraaye
Labj aise kahaan paayenge hum
Ummid na thi isaki
Jo saamne aaya hai
Tum jo bhi saja de do
Sar hamne jhukaaya hai
Sar hamne jhukaaya hai

Ek pyaar ke mujrim se
Ulfat bhi kare toh kaise kare
Tumhe tutake chaaha tha
Nafrat bhi kare toh kaise kare
Jo paar hame karta
Usane hi dubaaya hai
Kya pyaar mein socha tha
Kya pyaar mein paaya hai
Abb naam mohabbat ke
Ilzaam toh aaya hai
Tum jo bhi saja de do
Sar hamne jhukaaya hai
Sar hamne jhukaaya hai