हम तो भाई जैसे है Hum To Bhai Jaise Hain Lyrics in Hindi — Veer Jaara


Hum To Bhai Jaise Hain lyrics in Hindi sung by Lata Mangeshkar from the movie Veer-Zaara. The song is written by Javed Akhtar and music composed by Madan Mohan and recreated by Sanjeev Kohli. Featuring Preity Zinta and Shahrukh Khan.

Hum To Bhai Jaise Hain Song Details

📌 Song Title Hum To Bhai Jaise Hain
🎞️ Movie Veer Zaara (2004)
🎤 Singer Lata Mangeshkar
✍️ Lyrics Javed Akhtar
🎼 Music Madan Mohan
🏷️ Music Label YRF
▶︎ See music video of Hum To Bhai Jaise Hain Song on YRF Music YouTube channel for your reference and song details. Hum to bhai jaise hain lyrics in Hindi

Hum To Bhai Jaise Hain Lyrics in Hindi



हम्म..हम्म..
हम तो भाई जैसे हैं
वैसे रहेंगे
हम तो भाई जैसे हैं
वैसे रहेंगे
हम तो भाई जैसे हैं
वैसे रहेंगे
अब कोई खुश हो या
हो खफा
हम नही बदलेंगे अपनी अदा
समझे ना समझे कोई
हम यही कहेंगे
हम तो भाई जैसे हैं
वैसे रहेंगे
हम तो भाई जैसे हैं
वैसे रहेंगे

हम्म हम दिल की शहज़ादी हैं
मर्ज़ी की मलिका
हा हम दिल की शहज़ादी हैं
मर्ज़ी की मालिका
सर पे आँचल क्यूँ रखे
ढलका तो ढलका
अब कोई खुश हो या कोई रूठे
इस बात पर चाहे हर बात टूटे
हम तो भाई जैसे हैं
वैसे रहेंगे
हम तो भाई जैसे हैं
वैसे रहेंगे

हमे शौक मेहंदी का ना
शहनाई का है
हो हमे शौक मेहंदी का
ना शहनाई का है
हमारे लिए तो अपना घर
ही भला है
सुनता अगर हो तो सुन
ले काज़ी
लगता नही कभी हम
होंगे राज़ी
हम तो भाई जैसे हैं
वैसे रहेंगे
हम तो भाई जैसे हैं
वैसे रहेंगे
अब कोई खुश हो या हो खफा
हम नही बदलेंगे अपनी अदा
समझे ना समझे कोई
हम यही कहेंगे
हम तो भाई जैसे हैं
वैसे रहेंगे
हम तो भाई जैसे हैं
वैसे रहेंगे
आ हाहा आ हाहा आ..
हो होहो होहो हो..



More Songs from Veer Zaara:
तेरे लिए Tere Liye Hum Hain Jiye
दो पल रुका Do Pal Ruka
मैं यहाँ हूँ Main Yahan Hoon
ऐसा देस है मेरा Aisa Des Hai Mera
ये हम आ गाए हैं कहाँ Yeh Hum Aa Gaye Hain Kahan
क्यूँ हवा आज Kyon Hawa Aaj
तुम पास आ रहे हो Tum Paas Aa Rahe Ho
हम तो भाई जैसे है Hum To Bhai Jaise Hain
लोडी Lodi

Hum To Bhai Jaise Hain Lyrics in English

Hmm..hmm..
Hum to bhai jaise hain
Waise rahenge
Hum to bhai jaise hain
Waise rahenge
Hum to bhai jaise hain
Waise rahenge
Ab koi khush ho ya ho khafa
Hum nahi badlenge apni ada
Samjhe na samjhe koi hum
Yahi kahenge
Hum to bhai jaise hain
Waise rahenge
Hum to bhai jaise hain
Waise rahenge

Hmm hum dil ki shehzaadi hai
Marzi ki mallika
Haa hum dil ki shehzaadi hai
Marzi ki mallika
Sar pe aanchal kyun rakhe
Dhalkaa to dhalkaa
Ab koi khush ho ya koi roothe
Is baat par chahe har baat toote
Hum to bhai jaise hain
Waise rahenge
Hum to bhai jaise hain
Waise rahenge

Hume shauk mehandi ka na
Shehnai ka hai
Ho hume shauk mehandi ka na
Shehnai ka hai
Humare liye to apna ghar
Hi bhala hai
Sunta agar ho to sun
Le kaazi
Lagtaa nahin kabhi hum
Honge razi
Hum to bhai jaise hain
Waise rahenge
Hum to bhai jaise hain
Waise rahenge
Ab koi khush ho ya ho khafa
Hum nahin badlenge apni ada
Samjhe na samjhe koi hum
Yahi kahenge
Hum to bhai jaise hain
Waise rahenge
Hum to bhai jaise hain
Waise rahenge
Aaa haha aa haha aa..
Ho hoho hoho ho..